डीपफेक Deepfake वीडियो क्या है- सरकार क्यों बैन करना चाहती है

डीपफेक Deepfake वीडियो क्या है

डीपफेक (Deepfake) वीडियो AI का एक प्रकार है जिसमें एडवांस्ड AI का उपयोग करके बनाया जाता है Deepfake वीडियो में किसी व्यक्ति की आवाज, छवि को किसी अन्य व्यक्ति की छवि या आवाज से बदल दिया जाता है देखने में यह वीडियो इतनी सटीक और असली लगते हैं कि उन्हें असल वीडियो से अलग करना मुश्किल हो सकता है Deepfake वीडियो को बनाने के लिए AI मॉडल को बड़ी मात्रा में डाटा पर प्रशिक्षित किया जाता है जिसमें छवि, वीडियो और ऑडियो रिकॉर्डिंग शामिल है 

डीपफेक (Deepfake) वीडियो क्या है
डीपफेक (Deepfake) वीडियो क्या है

डीपफेक (Deepfake) तकनीक आधार 

  •  data से तकनीक का आधार गहन शिक्षण डीप लर्निंग(deep learning)और जेनरेटिव एडवर्सल नेटवर्क (GANs) नामक AI तकनीक का उपयोग करके बनाया जाता है डीप लर्निंग (Deep learning) का प्रयोग बड़ी मात्रा में डाटा से सीखने के लिए किया जाता है जैसे कि किसी व्यक्ति की वीडियो और ऑडियो रिकॉर्डिंग और इस डाटा को सीखने के बाद इस डाटा का उपयोग किसी व्यक्ति के चेहरे आवाज और अन्य विशेषताओं का एक विस्तृत मॉडल बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है

  • GANs का प्रयोग इस मॉडल का उपयोग करके नए वीडियो बनाने के लिए किया जाता है जी ए एन एस मैं मुख्य रूप से दो न्यूरल नेटवर्क होते हैं एक जनरेटर और दूसरा डिस्क्रिमिनेटर जनरेटर नकली वीडियो बनाता है और और डिस्क्रिमिनेटर नकली वीडियो को असली वीडियो से अलग करने की कोशिश करता है GANs की प्रतिद्वंद्वी प्रकृति के कारण जनरेटर लगातार बेहतर नकली वीडियो बनाने के लिए सीखना है 

Deepfake वीडियो के फायदे 

  •  मनोरंजन दीपक वीडियो मनोरंजन के लिए नए और रचनात्मक तरीके प्रदान कर सकता है
  • शिक्षा को अधिक प्रभावी बनाने के लिए deepfake वीडियो मदद कर सकता है क्योंकि वे छात्र को रोचक और आकर्षक तरीके से सीखने में मदद कर सकता है 

डीपफेक (Deepfake)वीडियो के नुकसान 

प्रतिदिन ai बहुत ही अधिक एडवांस होता जा रहा है जिसके हमें बहुत अधिक फायदे देखने को मिले हैं वहीं पर इसके नुकसान भी है अब हम deepfake के नुकसान के बारे में जानेंगे  

    1. दुष्प्रचार और भ्रम फैलाना: deepfake वीडियो का उपयोग बहुत अधिक दुष्प्रचार और भ्रम  फैलाने के लिए आजकल किया जा रहा है उदाहरण के लिए किसी राजनीतिक नेता की छवि को किसी ऐसे बयान देते हुए बनाया जा सकता है जो उसे उसने कभी नहीं दिए और इससे जनता के बीच में गलत संदेश जाता है जिसका नुकसान नेता और जनता दोनों को ही है
    2. व्यक्तिगत गोपनीयता का उल्लंघन: डीपफेक (Deepfake)वीडियो का उपयोग किसी व्यक्ति की छवि या आवाज का उपयोग करके गलत जानकारी या उन्हें बदनाम करने के लिए भी किया जा सकता है उदाहरण के लिए अभी कुछ समय पहले एक अभिनेत्री जिसका deepfake वीडियो बनाया गया था जिसका उद्देश्य केवल ही केवल उसको बदनाम करने का था
    3. कानूनी समस्याएं: डीपफेक (Deepfake) वीडियो का उपयोग करके कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की छवि आवाज का उपयोग करके उसके बिना अनुमति के कॉपीराइट सामग्री बनाने के लिए किया जा सकता है 

सरकार और जनता डीपफेक (Deepfake) वीडियो को क्यों बंद करना चाहती है 

डीपफेक (Deepfake)वीडियो को बैन करने के लिए सरकार और जनता के मुख्य रूप से कई कारण है क्योंकि इन वीडियो का उपयोग दुष्प्रचार और भ्रम फैलाने के लिए किया जा सकता है इसमें किसी व्यक्ति की छवि आवाज का उपयोग करके गलत जानकारी देने के लिए तथा उसे बदनाम करने के लिए भी किया जा सकता है इन कारणों से सरकार deepfake वीडियो को एक बहुत ही अधिक बहुत बड़ा खतरा मान रही है और इसलिए इस AI deepfake video को बैन करना चाहती है 

डीपफेक (Deepfake)वीडियो को कैसे रोका जा सकता है

डीपफेक (Deepfake) वीडियो को रोकने के लिए कई तरीके हैं जिनमें मुख्य रूप से तीन तरीके शामिल है  

  1. तकनीकी समाधान: शोधकर्ता deepfake वीडियो को पहचान और रोकने के लिए तकनीकी समाधान विकसित कर रहे हैं
  2. शिक्षा: शिक्षा ही अकेला एक ऐसा तरीका है जिससे लोगों को आई हुई नई टेक्नोलॉजी के बारे में ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें और लोगों को ठीक वीडियो भी पहचान करने और इन वीडियो में छपी हुई गलत जानकारी को समझने के लिए शिक्षित किया जाना चाहिए
  3. कानूनी प्रावधान: deepfake वीडियो का उपयोग दुष्प्रचार और भ्रम फैलाने के लिए करने पर सरकार को प्रतिबंध लगाने के लिए कानूनी प्रावधान बनाए जाने चाहिए !

deepfake वीडियो जनता के लिए एक नई और जटिल चुनौती है इस चुनौती का समाधान करने के लिए तकनीकी शैक्षिक और कानूनी उपायों की आवश्यकता है जिससे इसका दुरुपयोग न होकर सदुपयोग हो

यह भी पढे- audition video kaise banaen -ऑडिशन कैसे बनाए

Leave a Comment